रिक्की टिक्की टावी

निदेशक: ये झागुर्डी और सुरेदर सूरी हिंदी / 1979 / कलर / 75 मिनिट

सार:
ब्रिटिश अधिकारी लासिन जॉन और चंद, एक स्थानीय लड़का, महान दोस्त हैं और जंगल के जानवरों और सौंदर्य से प्यार करते है. एक भारी बारिश से बांध के द्वार फटकर खुल जाते है और वन मे बाढ़ आकर जानवरों को अपने लहरो से ले जाने मजबूर करता है. एक डूबते नेवला देखकर जॉन पानी में कूदता है और उसे बचाता है लेकिन इस प्रयास से उसके अपने पैर शक्तिहीन हो जाता है. बाद में, नेवला जिसका नाम रिक्की है, जॉन काटने के लिए तैयार एक साँप से लड़ता है अपना एहसान वापस करने की कोशिश मे. लेकिन रिक्की खतरनाक साँप से लड़ पायेगा और जॉन कभी अपने पैर वापस पायेगा ? देश में सबसे अच्छे जंगल फिल्मों मे से एक, इस संयुक्त भारत – रूस का सहनिर्माण रुडयार्ड किपलिंग के कहानी पर आधारित, बच्चों में दयालुता और दया के मूल्यों की पुष्टि करता है.